Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-header-footer.php on line 6
Species
  • Latest
  • Hottest
  • Popular
  • Discussed
  • Favorite
  • Random
कॉकरोच बर्फ युग से क्यों बचे: Nature’s Ultimate Survivors
SaveSavedRemoved 0

कॉकरोच बर्फ युग से क्यों बचे: Nature’s Ultimate Survivors

हिम युग, ठंडा तापमान और हिमनदों द्वारा चिह्नित अवधि, एक ऐसा समय था जब कई प्रजातियों को जीवित रहने के लिए संघर्ष करना पड़ा या विलुप्त होने का सामना करना पड़ा। फिर भी, बचे हुए लोगों में, सबसे अप्रत्याशित नायकों में से एक उभरा-कॉकरोच। इन छोटे, प्रतीत होने वाले अविनाशी कीड़ों ने प्रकृति के अंतिम उत्तरजीवी होने के लिए ...

READ MORE +
जाने सांप के बार-बार जीभ निकालने का रहस्य
SaveSavedRemoved 0

जाने सांप के बार-बार जीभ निकालने का रहस्य

सांप किसे आकर्षित नहीं करते? साँपों को जुड़ी अनेक कथाएं प्रचलित हैं, हमारी लोक कथाओं से लेकर पौराणिक कथाओंतक सबमें सांप एक महवपूर्ण किरदार के रूप में रहा है| सांप को देखें तो वह बार बार अपना जीभ निकलता दिखाई देता है , क्या आपने कभी सोचा की सांप ऐया क्यूँ करता है?  क्या आपने कभी महसूस किया है कि सांप आप पर अपनी जीभ फैला ...

READ MORE +
डर से कांपने लगोगे हिमयुग के विशाल हाथी को देखकर
SaveSavedRemoved 0

डर से कांपने लगोगे हिमयुग के विशाल हाथी को देखकर

हैलो, युवा खोजकर्ताओं! मौसम की करवट के साथ ही, हम हिम युग के रहस्यों और उन विशाल जीवों की रोमांचक चर्चा करने वाले हैं जो कभी हमारे ग्रह पर घूमते थे। द चिलिंग वर्ल्ड ऑफ द आइस एज एक ऐसी दुनिया की तस्वीर है जो अत्यधिक ठंड में डूब गई थी, जहाँ पृथ्वी की सतह के विशाल विस्तार बर्फ और सिर्फ बर्फ से ढके हुए थे। हिम युग लगभग ...

READ MORE +
जानकर चौंक जायेंगे आप पक्षियों का भी होता है अपना व्याकरण
SaveSavedRemoved 0

जानकर चौंक जायेंगे आप पक्षियों का भी होता है अपना व्याकरण

सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक जो मनुष्य को अन्य जानवरों से अलग करता है, वह है हमारी भाषा। हमारे पास अर्थों का एक विस्तृत शब्दकोश बनाने के लिए ध्वनियों के एक सीमित समूह और शब्दों का क्रम बदल कर भी नए विचारों को प्रस्तुत कर सकते हैं। यह एक उपयोगी तरीका है जो हमें कम शब्दों को याद रखकर भी जटिल विचारों को प्रस्तुत करने ...

READ MORE +
Show next

Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-header-footer.php on line 13
ScienceShala
Logo
Enable registration in settings - general