Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-header-footer.php on line 6

आओ बनाए सोलर कुकर (How to make Solar cooker at home )

0

Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-the_content.php on line 108

Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-the_content.php on line 114

Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-the_content.php on line 119

सोलर कूकर क्या होता है ( What is Solar cooker )

सोलर कुकर वह स्त्रोत है जिसमे हम सूर्य की ऊर्जा का इस्तेमाल करके खाना बना सकते है  | सूर्य की  ऊर्जा में 1/3  भाग इन्फ्रारेड रेज़ ( Infrared  rays ) का होता है  | जो उस वस्तु को गर्म करता है जिस पर वह गिरता है। सूर्य की ऊर्जा हमारी प्रक्रति में  असीमित मात्रा में मौजूद है | और इसका उपयोग करके हम गैस और बिजली की बचत कर सकते है  |

सोलर कुकर कैसे बनता है (how to make solar cooker)

इसे फाइबर ग्लास से बनाया जाता है  |  जिसके भीतरी भाग को काले रंग से रंगा गया है क्योंकि काला रंग गर्मी को लगभग पूरी तरह से अवशोषित (absorb ) कर लेता है। बॉक्स का ऊपरी हिस्सा कांच की मोटी प्लेटों से ढका हुआ है।

बॉक्स के ढक्कन को अंदर की तरफ एक समतल दर्पण (Plane mirror )  )  से ढंका जाता  है जो इसमें सूर्य के प्रकाश को फोकस करता  है। अल्युमीनियम के बर्तन बॉक्स के अंदर रखे जाते हैं जो बाहर से काले रंग से रंगे जाते हैं। इन बर्तनों में खाना पकाने के लिए सब्जियां आदि रखी जाती हैं।

सोलर कुकर कैसे काम करता है (How solar cooker works ) –

सोलर कुकर को धूप में रखा जाता है और ढक्कन को इस तरह मोड़कर रखा जाता है कि समतल दर्पण (Plane mirror ) से परावर्तित होने वाली धूप सोलर कुकर में प्रवेश कर जाए। डिब्बे के अंदर का काला रंग और बर्तनों के बाहर का काला रंग गर्मी को सोख लेता है।

डिब्बे के ऊपर रखी कांच की प्लेट ग्रीनहाउस प्रभाव पैदा करती है जिससे डिब्बे के अंदर का तापमान बढ़ जाता है और खाद्य पदार्थ पक जाते हैं।

घर पर सोलर कुकर कैसे बनाए ( How to make solar cooker at home ) –

आज हम आपको बताने जा रहे है सोलर कुकर बनाने की आसान विधि वो भी कार्डबोर्ड से ….

हां, आप कार्डबोर्ड से आसानी से किफायती सोलर कुकर बना सकते हैं। अगर ठीक से रखा जाए तो यह कई महीनों तक चल सकता है, नहीं तो दो से तीन हफ्ते की गारंटी पक्की है। इसमें आप आसानी से दाल, चावल, नूडल्स, पास्ता, केक आदि बना सकते हैं। अगर मुझे इस बारे में पहले पता होता तो हमें कभी भी अपने हॉस्टल वार्डन से इलेक्ट्रिक केतली को छिपाकर नहीं रखना पड़ता। खैर, बहुत देर हो चुकी है।

आज हम आपको घर पर सोलर कुकर बनाना बता रहे हैं जो बहुत ही आसान है। साथ ही इसे बनाने के लिए आपको ज्यादा सामग्री की भी जरूरत नहीं है। आपको अपने वॉर्डरोब में लगभग सब कुछ मिल जाएगा। अब इससे बेहतर और क्या होगा कि आप पिज्जा बॉक्स से भी अपना सोलर कुकर बना सकते हैं।

न सिर्फ बड़े बल्कि बच्चे  भी अपनी जरूरत के हिसाब से इसका इस्तेमाल कर सकता है।

सोलर कुकर के कई फायदे हैं:

1. यह पैसा और समय दोनों बचाता है। आपको 360 दिन की धूप मुफ्त में मिलती है, जबकि हर महीने गैस की जरूरत होती है। आप सौर ऊर्जा की मदद से गैस की इस लागत को कम कर सकते हैं।

2. आपको बस एक बार बर्तन में सारी चीजें डालकर उसमें रख देना है, बाकी काम सोलर कुकर से ही हो जाता. तब तक आप अपने बाकी सभी काम कर सकते हैं क्योंकि सब्जी-चावल को बार बार चलाने की कोई टेंशन नहीं है।

3. इसमें खाना न जलता है और न ही बर्तनों से चिपकता है इसलिए बर्तन साफ ​​करना बहुत आसान हो जाता है।

4. सोलर कुकर से जलने या आग लगने का कोई डर नहीं है।

5. गाँवों में यह एक अच्छा विकल्प है क्योंकि मिट्टी के चूल्हे से धुआँ निकलता है लेकिन उसमें नहीं।

6. सबसे अच्छी बात यह है कि सोलर कुकर में पकाने से आपका काम कम होता है।

सामग्री :-

: पिज्जा बॉक्स, एल्युमिनियम फॉयल, प्लास्टिक रैप, गहरे रंग का कागज, कैंची या चाकू, और पुराने अखबार

चरण 1: पिज्जा बॉक्स के ढक्कन में चाकू से एक फ्लैप काट लें, इस फ्लैप को खड़ा कर दें।

चरण 2: फ्लैप के अंदर एल्युमिनियम फॉयल लगाएं ताकि वह सूरज को परावर्तित करे।

स्टेप 3: अब ढक्कन के कटे हुए हिस्से को प्लास्टिक रैप से एयर टाइट करें।

स्टेप 4: काले रंग के पेपर को बॉक्स के अंदर पेस्ट करें।

चरण 5: बॉक्स के चारों ओर अखबार को रोल करें, यह एक इन्सुलेटर के रूप में कार्य करेगा।

चरण 6: आपका सोलर कुकर/ओवन तैयार है।

थर्माकोल बॉक्स से –

एक थर्मोकोल बॉक्स, पांच कार्डबोर्ड के टुकड़े (थर्मोकोल बॉक्स के अनुसार), काले रंग का कागज, एक गिलास।

1. सबसे पहले एक थर्मोकोल बॉक्स लें और उसके ढक्कन के बीच में एक फ्लैप काटकर अलग से निकाल लें।

2. ग्लास को आपके द्वारा हटाए गए फ्लैप पर चिपका दें।

3. अब सबसे पहले बॉक्स के निचले हिस्से को नापें और कार्डबोर्ड से एक टुकड़ा काट लें और उसके एक तरफ काले रंग का पेपर चिपका दें।

4. अब चारों भुजाओं को नाप कर गत्ते के चार टुकड़े कर लें और उन पर भी काले रंग का कागज चिपका दें।

5. कार्डबोर्ड के इन पांच टुकड़ों को बॉक्स के अंदर रखें, एक नीचे और दूसरा चारों तरफ।

6. अब आप उसके अंदर जो भी बर्तन इस्तेमाल करें, उन्हें बाहर से काले रंग से रंग दें क्योंकि काला रंग सबसे ज्यादा गर्मी को आकर्षित करता है.

7. उसमें खाने का बर्तन रखने के बाद उसके ऊपर ढक्कन लगा दें.

8. आपका सोलर कुकर तैयार है।

आप इनमे से किसी भी विधि से अपने लिए सोलर कुकर तैयार कर सकते है  , यह बहुत आसान भी है और सस्ता भी और इससे प्रदूषण भी नहीं फैलता  \

ऊर्जा का नवीनीकरण स्त्रोत  ( renewable source of energy ) –

सौर ऊर्जा ऊर्जा का नवीनीकरण स्रोत है | यह वो संसाधन होते है जो की प्रक्रति में काफी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है | और लगातार इनका इस्तेमाल अकरने के बाद भी यह कभी समाप्त नहीं होंगे  |  जैसे सौर ऊर्जा पवन ऊर्जा

ऊर्जा का अनवीनीकरण स्त्रोत   ( Non renewable source of energy )-

जीवाश्म ईंधन जैसे कोयला , पेट्रोल इन्हें प्रकति में बनने में करोडो सालो का समय लगता है |  और अगर इसी तरह इनकी खपत होती रही तो यह एक दिन समाप्त हो जाएंगे | इन्हें ऊर्जा के अनावीनीकर्ण स्त्रोत बोला जाता है |

ऊर्जा संरक्षण ( Energy Conservation ) –

यह आज के वक्त में बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दा बन चूका है  |आज ज़रूरी है की हम जितना हो असके उतना ऊर्जा का संस्रक्षण करे | पेट्रोल डीज़ल से चलने वाली गाडियों का इस्तेमाल कम करे | सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा का उपयोग अधिक से अधिक करे  | ताकि आने वाले समय में ऊर्जा के संकट का सामना न करना पड़े  |

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Captcha


Deprecated: stripslashes(): Passing null to parameter #1 ($string) of type string is deprecated in /home/u713642183/domains/scienceshala.com/public_html/wp-content/plugins/easy-adsense-ads-scripts-manager/inc/hook-header-footer.php on line 13
ScienceShala
Logo
Enable registration in settings - general